कामिनी टीचरLatest Hindi story-(horror comedy)

कामिनी टीचर Latest Hindi story-(horror comedy)- web series Script

हिंदी वेबसिरिज एपिसोड

कामिनी टीचर 

(स्क्रीनप्ले)

लेखक: आर के सिंह

Doc. Reg. No. (FWAM-3129GRWA)

© @ www.the18pluse.com

साजन टेलर अपने शॉप पर अपने शागिर्द अरुण को फैशन डिज़ाइनर के ट्रेनिंग का नया अध्याय सुना रहा है फ़्लैश बैक में कहानी चल रही है ।

साजन टेलर(V.O.)

मैं मशगुल हो चुका था अपने रोजमर्रा के काम मे । आर्डर बहुत थे और करने वाला मैं अकेला । तभी मेरी कहानी में बच्चों को पढ़ाने वाली गवर्नमेंट स्कूल की टीचर कमीनी मेरा मतलब कामिनी की एंट्री हुई । 

FB साजन टेलर अपनी शॉप पर ब्लाउज की सिलाई कर रहा है । तभी एक सुंदर और हसीन औरत पिच कलर की सॉफ्ट सिल्क साड़ी पहने हुए और अपने गोरे मुखड़े पर काला चश्मा पहने हुए इठलाती हुई आ रही है । कुछ नुक्कड़ पर खड़े लड़के मैडम की बलखाती कमर को लचक को देख कर हवस की आग में जल रहे है ।

 हल्के गुलाबी रंग की पतली साड़ी में उसका गदरीला बदन बहुत ही उभर कर बाहर आ रहा था , मानो स्वर्ग की मेनका धरती पर फैशन शो में कैटवॉक करते हुए आ रही है । पर वही नुक्कड़ के कुछ हवसी लौंडो ने उस कोमल गाय के दूध पर निशाना लगा रहे थे ।


नुक्कड़ का लौंडा 1

हाय क्या जवानी है , मिल जाए तो मिजाज गरम हो जाये ।


लौंडा 2

अबे मेरा तो देख के ही छटक गया । shsss...(आह भरते हुए)

वह साजन के शॉप पर आकर रुकती है । साजन अपने काम मे लगा है । कामिनी अपने पर्स से एक एड्रेस की पर्ची निकाल कर ।


कामिनी टीचर

सुनिए क्या आप ये पता बता सकते है ? 

साजन नीचे से ऊपर तक उस टीचर को देखता है । मैडम की फुर्सत वाली जवानी देख कर उसके अंदर मानो कामदेव की आत्मा घुस चुकी है । वह अपने कैची के धार से ब्लाउज़ के निपल का टॉप काट कर दो छेद बना देता है । 

साजन टेलर 

कहिए कहाँ से लू आपकी ।...


कामिनी टीचर

क्या बोले ?. ..


साजन टेलर

(लड़खड़ाते हुए) म..म..म... मेरा मतलब है कि आपको क्या सिलवाना है ?...चूड़ीदार, पटियाला अनारकली, ब्लाउज....


कामिनी टीचर

देखिए मुझे कुछ सिलवाना नही है , दरसअल मुझे ये पता जानना है । क्या आप बता सकते है ये एड्रेस कहाँ है । 


साजन टेलर

(पर्ची लेके) अरे ये तो बब्बन मासाहब के घर का पता है लेकिन यह घर तो काफी सालो से बंद है ।


कामिनी टीचर

ये सब मुझे पता है बस आप ये पता बता दीजिए । 

तभी दोनो लौंडे साजन के शॉप पर आ जाते है.....दोनो कामिनी के सामने खड़े होकर उसको हवसी नजरों से देख रहे है ।साजन कुछ बोलते बोलते रुक जाता है ।


भूत की F.I.R. | Bhoot Ki FIR Hindi Story | 



लौंडा 1

और क्या बात है साजन भइया । कभी हमे भी लेने का मौका दो ।....माप


लौंडा 2

अरे साजन भईया इसका कहने का मतलब है कि हमको भी अपना काम क्यों नही सीखा देते आखिर कब तक यूँ ही बेरोजगार बैठे रहेंगे ? ...(मस्करी करते हुए )


साजन 

(मेडम को स्माइल देते हुए ) मैडम जी एक सेकेंड साइड देंगी ? 


साजन कामिनी के स्थान पर आकर दोनो को खींच के एक तमाचा देता है । फिर अपनी जगह पर वापस आ जाता है, दोनो अपनी गाल मलने लगते है । 

साजन टेलर

अबे भांडुओ .... ज्यादा ची चपड़ मत किया करो । देख लिया करो अगल बगल कौन खड़ा है ।


कामिनी टीचर

ऑफ ओह ! आप लोगो का हो गया तो क्या मुझे एड्रेस बताएंगे ?


लौंडा 2

अरे मैडम जी हमे पता है आओ आपको ले चलते है ।


साजन टेलर

क्यों ...क्यों ...क्यों तुम क्यों जाओगे बे... तुमको तो काम सीखना है ना तो ये लो कैची, ये रहा इंची टेप (लौंडा 2 के गले मे डाल कर ) सुनो मैं आता हूं मैडम को छोड़ कर तब तक तुम दोनों दुकान संभालो । फिर आकर देता हूँ तुम दोनों को ।

दोनो लौंडे चौक कर देखने लगते है । साजन उनको अपना हाथ का साइज बताते हुए ।

अबे दारू खंम्भा 

दोनो लौंडे खुश हो जाते है । साजन मैडम को लेके चला जाता है । एक लौंडा निप्पल कटे हुए ब्लाऊज़ का दोनो सिर पकड़ कर उठाता है । दोनो सिरों में निप्पलों के छेद से नुक्कड़ का चौराहा दिखाई देता है ।

साजन मैडम को लेके एक रास्ते से गुजर रहा है । दोनो समान्तर कदम ताल में चल रहे है ।साजन की नजर बार बार कामिनी के उभरे हुए बूब्स और लचकदार कमर पर पड़ती है । 


साजन टेलर

वैसे मैडम जी एक बात समझ नही आ रहा है ऐसे बंद घर के पते पर आप क्यों जा रहे हो ?


कामिनी टीचर

वैसे मैं गवर्मेंट स्कूल की टीचर हूँ, मेरा नाम कामिनी शर्मा है , अभी हाल ही में आपके एरिया में मेरा तबादला हुआ है ।


साजन टेलर

तो मैडम जी आप यहाँ अकेले आई हो ?


कामिनी टीचर

1 साल पहले मेरे मम्मी पापा एक कार एक्सीडेंट में मर गए । कुछ साल पहले पढ़ायी करके मुझे एक सरकारी स्कूल में टीचर की जॉब मिली । लेकिन आज मैं अनाथ हूँ मेरा कोई नही इस दुनिया मे ।


साजन टेलर

आज से आप कभी खुद को अनाथ नही कहेंगी । मैं आज से आपका हूँ.... मेरा कहना है कि आज से आप मुझे अपना दोस्त समझिए । किसी भी चीज की कभी भी जरूरत हो आप मुझे बेझिझक बता सकती है । वैसे मेरा भी इस भीड़ वाली दुनिया मे कोई अपना नही है । 

दोनो एक दूसरे को प्यार भरी  नजरों से देखने लगते है । दोनो को एक साथ मिल गया है । दोनों बातें करते हुए आगे बढ़ रहे है ।

साजन टेलर (V.O.)

मैं कामिनी के 2 मिनट के साथ मे उसको अपना दिल हार बैठा था । कभी अकेले जीने वाले साजन को साथ जीने की उम्मीद नज़र आने लगी थी । ऐसा लग रहा था मानो उसकी प्यारी सी मुस्कान ने मेरे दिल के तार छेड़ दिए हो । 

दोनो पते पर पहुंचते है । एक मंजिले मकान के बाहर हरे भरे पेड़ पौधे लगे है । मकान के सीढ़ियों पर दोनों कदम रखते है । कामिनी और साजन के सामने एक बृद्ध रामुकाका जो कि उस घर की चाभी रखता है  - ताला खोलते हुए ।

रामुक़ाका

हमें कल ही फोन आ गया था कि आप आने वाली हो इसलिए हमने कल सारा इंतेज़ाम कर दिया था । मास्टर साहब के देहांत के 6 महीने बाद इस मकान में कोई रहने आया है ।

ताला खोल कर रमुकाका समेत तीनो अंदर जाते है । रामुकाका चाभी देते हुए । 


रामुकाका

ये लो बिटिया चाभी । मैंने रासन का सारा इंतेज़ाम कर दिया है । टंकी में पानी रोज सुबह भर जाता है । मैं एक हफ्ते के लिए तुम्हारी चाची को लेके बाहर जा रहा हूँ । तुम्हें किसी चीज की जरूरत पड़े तो......


साजन टेलर

अरे चाचा तुम इसकी तनिक भी चिंता करो नही । हम देख लेंगे । 


रामुकाका 

अच्छा ठीक है में चलता हूँ ।

रामुकाका के जाने के बाद दोनों हाल में सोफे पर बैठते है ।

 साजन कामिनी की आंखों में देख रहा है । कामिनी भी साजन की आंखों में देखने लगती है । दोनो जवानी के मोह में एक दूसरे के करीब आते है । और एक दूसरे को लिप to लिप kiss करने लगते है । फिर रसोई घर से कुछ बर्तन गिरने की आवाज आती है । दोनो एक दुसरे को छोड़ देते है। फिर नज़रे चुराने लगते है ।

साजन टेलर

मैं देखता हूँ मैडम जी ....

साजन हॉल से चलकर किचन की तरफ जाता है । किचन में अंधेरा सा है । वह धीमे पांव आगे जाता है । तभी कोई साया उसके पीछे से भागता हुआ हमें नज़र आता है । साजन घबरा कर पीछे मुड़ता है । कोई नजर नही आता है । वह फिर से धीमे पाँव आगे बढ़ता है । 

वह जाकर किचन की लाइट की स्वीच चालू करता है । तभी 2 बर्तन धड़ धड़ करके गिरते है । साजन डर जाता है और वह तेजी से हाल की तरफ भागता है । वह देखता है कि वहाँ कामिनी मैडम नही है । वह इधर उधर देखता है तब वह एक कमरे के करीब जाता है धीरे धीरे । अचानक कमरे का दरवाजा खुलता है और कोई साजन को अंदर खींच लेता है । यहाँ यह सीन खत्म होता है ।

साजन कंबल ओढ़े अपने शॉप पे बैठे हुए कांप रहा है । दोनो लौंडे उसको कांपते देख हैरान है । 

लौंडा 1

अरे का भौ साजन भइया । जब से मास्टरनी को छोड़ के आये हो । डरे हुए कांपे जा रहे हों । 


लौंडा 2

लगता है भैयाजी ने पूरा झार दौ है अपनों । वा मारे कांप रहे हेंगे ।

साजन लौंडो को कोसने वाली नज़र से देखते हुए फ़्लैश बैक में सोचते हुए । 

FBकिसी ने साजन का हाथ खींचा । दरवाजा बंद हुआ । वह मास्टरनी कामिनी थी वह साजन को अंदर खींच लेती है । कामिनी ने रेड कलर का सिल्क नाईट शार्ट गाउन पहना हुआ है । उसकी सेक्सी टांगे देख कर और उभरते बूब्स को देख कर साजन चकरा जाता है ।

साजन टेलर

अरे मैडम जी आप...

कामिनी उसके लिप पर अपने फिंगर रख देती  है । 

कामिनी

शशशश... कुछ मत बोलो । नजाने कितने दिनों बाद किसी का साथ पाया है । मेरी अभी तक किसी ने नथ भी नही उतारी है । ये मौका मि तुमको देने जा रही हूं ।

कामिनी साजन को पकड़ कर kiss करने लग जाती है । दोनो में लपालप kiss होता है । साजन कामिनी को बिस्तर पर लिटा कर । कामिनी के बदन से आहिस्ते आहिस्ते उसके कपड़े उतरता है । उसका एक एक अंग चूमता है । कामिनी काम की भावना में मदहोश हो रही है । साजन कामिनी को नंगा करके सेक्स करता है । उसको दोनो टांगे उठा कर । चौड़ा कर । बूब्स दबाते हुए । थोड़ी देर बाद कामिनी साजन के ऊपर चढ़ कर अपनी प्यास बुझाती है । दोनो का सेक्स खत्म होता है । कामिनी लेट जाती है । साजन अपने शर्ट पहनने लगता है । कामिनी साजन को बिस्तर पर लेटे हुए मदहोशी भरी निगाह से देख रही है । 

साजन निकल कर बाहर हाल में आता है तभी उसकी निगाह दीवार पर टंगे हुए फोटोफ्रेम पर जाती है । 3 फ्रेम पर हार चढ़े हुए है । camera  एक व्यक्ति का के फ़ोटो को क्लोज दिखाता है । फिर एक लेडी का दिखाता है और फिर कामिनी का फोटो फ्रेम दिखाता है ।

फ्लैश बैक आउट होता है । अरुण बड़े गौर से साजन मास्टर की आप बीती सुन रहा है । दोनो चाय के ठेले पर चाय पीते हुए ।

अरुण

मतलब आपने बिना तन के मन लगाकर हुदायी कर दी । हा.. हा...(ठहाके मारके हस्ते हुए ) 

समाप्त 








Post a Comment

0 Comments