Skip to main content

सफलता की रहस्यमयी सोच Science of Success motivational thoughts power

सफलता की रहस्यमय सोच Science of Success motivational thoughts power| The Secret Science of Success Very Powerful Thoughts





The Secret Science of Success Very Powerful Thoughts

क्या आप जानते है कि आप असफल कैसे हो जाते है ?

हमारे शब्द हमेशा हमारी आत्मा की आवाज होते है, जो ईश्वर तक जाते है और वही प्रतिफल देते है इसीलिए शब्द वही चुने जो आपके हित मे हो तथा अन्य के लिए हितकर हो।

मनुष्य जो विचार करता है,जिसको करके अपने कर्तव्यों का वहन करता है, चाहे वह कर्तव्य अच्छे हो या बुरे यह तो सिर्फ उसके विचारो पर ही निर्भर है।

यदि आप किसी प्रकार के विचार करते हो तो वह विचार स्वयं आपके होते है जिसका परिणाम उचित या अनुचित आपको ही मिलता है। और यह परिणाम आपके विचारों पर ही निर्भर होते है।

इस संसार मे मनुष्य जन्म से मृत्यु तक केवल विचार करता है, लेकिन फिर भी उसको उसके विचारों के अनुसार सर्वस्य नही मिलता कारण कि उसके सभी विचार उसके अंतर आत्मा के स्वंय के विचार नही होते है।

The Secret Science of Success

Very Powerful Thoughts

लेकिन ये सत्य है कि आपके अंतर आत्मा के विचार से ही आपकी सफलता सिद्ध होती है। ऊपरी मन केवल आपको संसार में भटकाता है, इस पर स्वयं विचार कीजिए।

एकाग्र मन से ही केवल मनुष्य अपने आपको अर्थात अपनी अंतर आत्मा को सुन सकता है।

आपको वही करना होता है जो आपकी अंतर आत्मा कहती है क्योंकि यह शरीर केवल आपकी आत्मा को मिला है जिसमे आप रहते हो, यदि आप दूसरों के विचरों से या दूसरों का विचार लेकर अपने कर्म करते है, तो वह आपकी अंतर आत्मा को स्वीकार नही होती है  और यही कारण है कि आप बार बार असफल होते है, निराश हो कर , हीन भावना वाले और असंतोष स्वभाव के इंसान बनते है, और आपका स्वास्थ्य बिगड़ जाता है।

यदि यह विचार आपको अच्छे लगे तो लाइक कीजिए कमेन्ट कीजिए और शेयर कीजिए लेकिन हाँ, अपनी अंतर आत्मा से पूछ कर । 😊😊😊😊😊

आपको कर्मों का फल कैसे मिलता है ? कर्म हमें क्या देता है ?

वास्तव में हमारा कर्म हमें अस्पष्ट  प्रतिफल की संभावनाएं देता हैं।

आइए इस बात को एक उदाहरण रुप समझने की कोशिश करते हैं।
एक परिवार का मुखिया अपने परिवार में अपनी पत्नी से कहता है कि मैंने परिवार की जीविका निवर्हन के लिये साड़ी का छोटा सा व्यापार शुरू किया है, अब हमें धन की कमी नही होगी जैसे जैसे व्यापार बढ़ेगा उसी प्रकार आर्थिक स्थिति में सुधार होगा ।

जब वह व्यक्ति इस कथन को कहने का कर्म करता है तो वहां उसकी दम्पत्ति को भविष्य की संभावनाएं अस्पष्ट रूप में दिखाई देती। सिर्फ यह स्पष्ट होता है । जब वह व्यक्ति अपना व्यापार शरू कर देता है। जब वह सारा माल सामान दुकान में भर कर अपने ग्राहकों के आने का इंतजार करता है, तो वहाँ भी अस्पष्ट सम्भावना ही प्रतिफलित होती है। 

जब उसके ग्राहक आते और उसके साडियो का निरीक्षण करते है तो वहां भी अस्पष्ट संभावना ही रहती है, वहां वह व्यापारी अपनी व्यापार नीति से उस ग्राहक को साड़ी लेने के लिये आग्रह करता है। 

अन्ततः वह ग्राहक साड़ी पसन्द करके खरीद लेता है, तो यहाँ इस ग्राहक के कर्म से उस व्यापारी की प्रतिफ़ल संभावना स्पष्ट होती है, क्योंकि अंत मे ग्राहक के कर्म ने उस व्यापारी के कर्म को स्पष्ट किया । और साड़ी से हुए मुनाफ़े को ही व्यापारी अपने भूतकाल के कर्मों का फल मान कर अपने अस्पष्ट संभावनाएं स्पष्ट करता है। 

यह उदहारण कुछ कर्मों में कुछ हद तक अपवाद रुप है जैसे कम समयावधि वाले कुछ कर्मों मे ।

कर्म फल = भूतकाल + वर्तमानकाल + भविष्यकाल (तीनों काल के कर्मों का योग)

यदि यह सूत्र स्थापित करें तो अनुचित नही होगा।
दोस्तों यहाँ पर कर्म सभी को करना पड़ता है क्योंकि कर्म करते रहने से ही संभावनाएं उत्पन्न होती है, निष्कर्म व्यक्ति कभी भी किसी संभावना की उत्पत्ति नही कर सकता है।


मित्रों कर्म करके सम्भावनाए उत्पन्न कीजिए फल काल के अनुसार ही स्पष्ट होंगे। जैसे आईने पर धूल के जमने पर चेहरा स्पष्ट नही दिखाई देने पर आप उसको साफ करने का कर्म करते हो अर्थात कर्म करते रहने से संभावनायें स्पष्ट होती हैं ।
तो दोस्तों श्रीमद्भागवत गीता के कथन के अनुसार " कर्म करो, फल की चिंता मत करो।" इस तरह से स्पष्ट होता है।

राहुल सिंह

Comments

Popular posts from this blog

Tum hi aana Best Hindi Songs Lyrics | Latest Songs

Best six Hindi Song's Lyrics | Latest SongsBEST HINDI SONGS LYRICS BEST OF KISHORE KUMAR Song:- Tum hi aana
Singer:- Jubin Nautiyal
Film:- Marjawan
तेरे जाने का ग़म और ना आने का ग़म
फिर ज़माने का ग़म, क्या करें?
राह देखे नज़र, रात भर जाग कर
पर तेरी तो ख़बर ना मिले

बहुत आई-गई यादें, मगर इस बार तुम ही आना
इरादे फिर से जाने के नहीं लाना, तुम ही आना

मेरी दहलीज़ से होकर बहारें जब गुज़रती हैं
यहाँ क्या धूप, क्या सावन, हवाएँ भी बरसती हैं

हमें पूछो, "क्या होता है बिना दिल के जिए जाना"
बहुत आई-गई यादें, मगर इस बार तुम ही आना

कोई तो राह वो होगी जो मेरे घर को आती है
करो पीछा सदाओं का, सुनो क्या कहना चाहती है?

तुम आओगे मुझे मिलने, ख़बर ये भी तुम ही लाना
बहुत आई-गई यादें, मगर इस बार तुम ही आना

Watch Full song here


😎😎😎😎😎😎😎😎😎😎😎😎😎

Read These Hindi storiesGhar Jamayi (thriller & hot)
Ek Chahat (thriller, horror & hot)
Poster Girl ek Model(inspirational)
Morning walk (sexy Adult webseries)
Delivery Boy (sexy Adult webseries)


Song:- Apna Time Ayega
Singer:- Ranveer Singh(Rapper)
Lyr…

Film industry Jobs/Auditions/Casting/Vacancy

Film industry (Daily Updates) Jobs/Auditions/Casting/Vacancy Date of post:- 7-03-2020 (Only 5 posts daiy)

Horror and thriller Web series Story..Ek ankahi ansuni Chahat

Ek an kahi an suni…CHAAHAT Written by Suhas das, (Note- this is an adult story and a combination of horror and Thriller)
(Intro:-)

Ek rich man, sab kuch hai laikin koi ladki usko ghaas Tak nahi daalti, as he looks very very ugly
in looks,

He is Very disappointed, ki Koi bhi ladki usko Pyaar nahi karti, woh akele me apne aapko hi
satisfy karta, Blue film dekh Kar, masterbation..., romantic dreams Etc..
Usne kayi baar kaam waali bai Jo ghar me aati hai use manaana chaha...paise ka bhi offer
kiya...per uske paise ke aage uska ugly Roop aajaata...uska Roop maano jaise koi shraap ho uske
jivan ka.

Online usne apni iss samasyaa ka upaay dhundana chaha, per koi upaay kaam nahi aaya...
Per ek din saamne se kisi tantric ka promo sms aaya, usne unke baare me padhaa to pata chala ki
bade pohuche hue tantric hai, fouran appointment leli aur apne bungalow pe aane ka aagrah
Kiya.


Tantrics entry-
(Baba Ghar ke taraf badhte hue, door bell rings... Servant opens up the door, servant calls the
owner)
H…